virat kohli biography in hindi

virat kohli biography in hindi


दोस्तों मुझे नहीं लगता विराट कोहली का नाम इस क्रिकेट जगत में किसी परिचय का मोहताज है जिस तरह उन्होंने तेज गति से क्रिकेट में रन बनाए हैं इतनी तेज गति से लोकप्रियता भी पाई है क्रिकेट के विशेषक तो उन्हें भविष्य का सचिन तेंदुलकर मानते हैं क्योंकि वह तेंदुलकर के भाति बहुत ही सूझ बूझ के साथ बल्लेबाजी करते हैं हाल ही में महेंद्र सिंह धोनी के सभी फॉर्मेट से कप्तानी छोड़ने के बाद विराट तीनों फॉर्मेट के कप्तान बन गए हैं


virat kohli age

दोस्तों आज हम इस प्रतिभाशाली खिलाड़ी के सफलता के बारे में जानेंगे और इन से कुछ सीखने की कोशिश करेंगे विराट कोहली का जन्म 5 नवंबर 1988 (32)yars को दिल्ली में एक पंजाबी परिवार में हुआ था


virat kohli family

उनके पिता प्रेम कोहली पेशे से एक lawyer थे और मां सरोज एक हाउसवाइफ थी वह अपने परिवार में सबसे छोटे हैं उनका एक बड़ा भाई और एक बड़ी बहन भी है विराट की मां कहती है जब वह 3 साल के थे तभी से उन्होंने बेट पकड़ लिया था और अपने पापा के साथ खेलने के लिए हमेशा परेशान किया करते थे

virat kohli school

कोहली दिल्ली के उत्तम नगर की गलियों में बड़े हुए और विशाल भारतीय पब्लिक स्कूल से शिक्षा ग्रहण किए थे

virat kohli motivational story in hindi

उनके क्रिकेट के प्रति रुचि देखकर पड़ोसियों का कहना था विराट कोहली गली में टाइम नहीं करना चाहिए बल्कि उसे किसी प्रोफेशनल अकैडमी में सीखने के तौर पर खेलना चाहिए कोहली के पिता पड़ोसी के कहने पर 9 वर्ष की उम्र में उन्हें दिल्ली के एकेडमी में ज्वाइन करा दिया था दोस्तों भारत मैं कैरियर को करियर देखता है

virat kohli biography in hindi


तो यह कैरियर ऑप्शन सबसे रिस्की की माना जाता है क्योंकि भारत में हर 10 में से 8 या उससे ज्यादा लोग खेलने और देखने के शौकीन हैं लेकिन अगर विराट के पिता और पड़ोसियों जैसा कोई सपोर्ट करने वाला मिल जाए तो सब कुछ आसान हो जाता है विराट को राजकुमार शर्मा ने ट्रेडिंग की थी खेल ने के साथ-साथ कोहली पढ़ाई में भी बहुत अच्छे थे उनके शिक्षक कहते है एक होनहार और होशियार बच्चे बताते हैं


विराट कोहली ने क्रिकेट में शुरुआत अक्टूबर 2002 से की थी जब उन्हें पहली बार दिल्ली से अंडर 15 में शामिल किया गया था उस समय विराट ने दो हजार दो तीन की उम्र गिल प्रार्थिनी प्रोफेशनल क्रिकेट खेला था वर्ष 2004 के अंत तक अंडर-17 दिल्ली का क्रिकेट सदस्य बनाया गया था तब उन्हें विजय मर्चेंट ट्रॉफी के लिए खेलना था चार मैचों के सीरीज में 450 से ज्यादा रन बनाए थे

virat kohli biography height weight

 

1

NAME

virat kohli

2

date of birth

 

5th November

3

wife nam

 

Anushka Kohli

4

Height

 

175 centimrters

5

weight

 

70 kg

Virat Kohli net worth

 

1


Profession

  Cricketer

 

2

Net worth

 900 Crores

 

3

Income per match

 ODI – 6.5 lacs Test Match – 16 lacs T20 – 3 lacs

 

4

Monthly income

 Five crores

5

Annually income

 50 crores+

6

Money factors

  IPL, TV ADS, Cricket teams

 

7

Update on year 2021

 

 


सब कुछ सही चल रहा था लेकिन अचानक 18 दिसंबर 2006 को ब्रेन स्टोन की वजह से कुछ दिनों तक बीमार रहने के बाद उनके पिता की मृत्यु हो गई जिसका विराट के जीवन बहुत गहरा असर पड़ा था वह आज भी इंटरव्यू में अपनी सफलता के पीछे अपने पिता का हाथ बताते हैं


कोहली का कहना है कि इस समय मेरे और मेरे परिवार के लिए काफी मुश्किल था आज भी उस समय को याद करते हुए मेरे आंखों में आंसू आ जाते हैं बचपन से ही क्रिकेट प्रशिक्षण में उनके पिता उनको बहुत मदद की थे मेरे पिता हे मेरे लिए सबसे बड़ा सहारा थे


पाताल मेरे साथ रोज क्रिकेट खेला करते थे आज भी कभी-कभी मुझे उनकी कमी महसूस होती है जुलाई 2006 में विराट कोहली को भारत की अंडर-19 में चुन लिया गया था और उनका पहला विदेशी टूर इंग्लैंड था इस इंग्लैंड टूर के मैच में उन्होंने अपने टीम के लिए उन्होंने 105 रन बनाए थे


मार्च 2008 में विराट कोहली को भारत का अंडर-19 क्रिकेट टीम का कप्तान बना दिया गया था उनको मलेशिया में होने वाले अंडर-19 वर्ल्ड की कप्तानी करनी थी इस वर्ल्ड कप में बहुत शानदार प्रदर्शन किया था


कोहली को 2009 में इंडियन क्रिकेट टीम में श्रीलंका दौरे के लिए चुन लिया गया था इस दौर की शुरुआत में इंडिया टीम में एक के तरफ से खेलने का अवसर मिला था इसके बाद जब भारत के ओपनर सहवाग और तेंदुलकर दोनों घायल हो गए थे तब विराट को उनके जगह पहली बार भारतीय टीम में खेलने का अवसर मिला था इस टूर में उन्होंने अपना पहला एकदिवसीय पहला आग शतक मारा था


इस सीरीज में भारत की जीत हुई थी बस तभी से विराट कोहली ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और बहुत ही तेज गति से अपने खेल के बदौलत उन्होंने क्रिकेट में लोकप्रियता भी प्राप्त कर लें और आज वह भारत के तीनों फॉर्मेट के कप्तान बन चुके हैं विराट कहते हैं मैं सामने वाले को नहीं देखता कि वह कितना बड़ा खिलाड़ी है मैं बस इतना सोचता हूं मेरे पीछे करोड़ों फैन का आशीर्वाद और दुआ है आपका बहुमूल्य समय देने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ